You don't have javascript enabled. Please Enabled javascript for better performance.

लॉकडाउन के कारण हिमाचल या अन्य राज्यों में फंसे नागरिक कोविड ई-पास के लिए करें आवेदन

Start Date: 08-05-2020
अंतिम तिथि 30-05-2020

लॉकडाउन के कारण विभिन्न स्थानों पर फंसे लोगों की सहायता के लिए ...

विवरण देखें जानकारी छिपाएँ

लॉकडाउन के कारण विभिन्न स्थानों पर फंसे लोगों की सहायता के लिए हिमाचल सरकार ने प्रभावी कदम उठाए हैं। राज्य सरकार ने इस उद्देश्य से पोर्टल बनाएं हैं जिसके माध्यम से लोग आवाजाही हेतु पास के लिए आवेदन कर सकें। यह पोर्टल हिमाचल प्रदेश में वापस आने तथा राज्य से बाहर जाने वालों को पास बनाने के लिए स्थापित किए गए हैं।

हिमाचल में प्रवेश करने हेतु http://covid19epass.hp.gov.in/applications/epass/apply

हिमाचल से बाहर जाने हेतु http://covid19epass.hp.gov.in/applications/epass/apply

हेल्पलाइन के टोल फ्री नंबर 18001808185 और 1070

ईमेल- cmhpcovid@gmail.com

जिन लोगों के पास वाहन की व्यवस्था नहीं है वे इस http://covid19epass.hp.gov.in लिंक पर अपना पंजीकरण करवाएं, उन्हें कोविड ई-पास पर आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।

पोर्टल पर पंजीकरण के आधार पर ही प्रदेश सरकार को यह जानकारी प्राप्त होगी कि प्रदेश के लोग किन-किन स्थानों पर फंसे हैं तथा वे प्रदेश में वापस आना चाहते हैं। इसी तरह सरकार को यह भी पता चलेगा कि अन्य प्रदेशों के कितने लोग हिमाचल से अपने राज्यों को जाना चाहते हैं। इसी पंजीकरण से प्राप्त सूचना अनुसार ही प्रदेश सरकार उनकी आवाजाही की उचित व्यवस्था करेगी। प्रदेश सरकार ने फंसे हुए लोगों को अपने गंतव्य स्थान तक पहुंचाने की व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं, जो इस कार्य के लिए सम्बन्धित राज्यों से समन्वय करेंगे।

सभी टिप्पणियां देखें
हटाएं
1 परिणाम मिला
370

Gajjan Singh 11 months 3 weeks पहले

Sir I am employee of pharmaceutical industry at neighbouring state Uttrakhand at Selaqui , now as per new guidelines for interstate movement of employees of neighbouring states I have to join the duty but Same procedure for interstate movement was not applied in Distt Sirmour as in Distt Solan for BBN industries why such differentiation between two didistt. Of same state Himachal Pradesh.it should be same for all industries and distt. Thanks sir